Motivational Speeches in Hindi, Inspirational Story in Hindi by Top Personalities

motivational speech
विश्व के प्रेरक प्रवक्ता हमारी जिंदगी और विश्व के लाखों लोगो की जिंदगी अपने ब्यवहारिक प्रेरक बाते, बुद्धि और गहरे बिश्वास से बदलने में मदद की है । उन्होंने लोगो को अपनी जिंदगी को नए नज़रिये से देखने में प्रेरित किया है । इनकी छोटी-छोटी प्रेरक कहानियां लोगो को उनकी छमता का अहसास कराती है ।

Best Hindi Motivational Speech, Video and Inspirational Stories

1. Shiv Khera Inspirational Speech

“एंड्रयू कार्नेगी अपने बचपन में ही स्कॉटलैंड से अमरीका चले गए थे । उन्होंने मामूली कामों से अपने कैरियर शुरूआत की, और अपने मेहनत, लग्न से अमरीका में स्टील बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी के मालिक बन गए। ऐसा भी हुआ जब उनके लिए अनेकों करोड़पति काम करते थे। करोड़ रूपये उस समय बहुत होते थे ।

किसी ने कार्नेगी से पूछा, आप लोगों से कैसे पेश आते हैं?‘ उन्होंने जवाब दिया लोगों से पेश आना बहुत हद तक सोने की खुदाई करने जैसा है। हम एक तोला सोना खोद निकालने के लिए ढेर सारी मिट्टी हटानी पड़ती है। लेकिन खुदाई करते वक्त हमारा ध्यान मिट्टी पर नहीं, बल्कि सोने पर रहता है।

एंड्रयू कार्नेगी के जवाब में एक बहुत महत्वपूर्ण प्रेरक संदेश छिपा हुआ है।किसी भी इंसान को उसके हाव भाव अथवा हालात को देखकर उसकी अच्छाई का आकलन नहीं कर सकते । इसके के लिए हमे उस ब्यक्ति को गहराई से समझना होगा ।

हमारा मकसद क्या है?सोना तलाशना। अगर हम किसी इंसान, या किसी चीज में कमियां ढूंढ़ेंगे, तो हमको ढेरो कमियां दिखाई देंगी। लेकिन हमें किस चीज की तलाश है- साने की या मिट्टी की? कमियां ढूंढ़ने वाले तो स्वर्ग में भी कमियां निकाल देते है । अधिकतर लोगों को वही मिलता है, जिसकी उन्हें तलाश होती है।” By-Shiv Khera

 

2.Sandeep Maheshwari Motivational Speech Video in Hindi

“सुख और दुःख दोनों ही एक दूसरे के पहलु हैं मतलब दोनो एक ही हैं, जो सुख है वही दुःख है बस हमारी सोच दोनों में फर्क करती है। जैसे कि हमने  आम खाया हमे  उसका स्वाद मीठा लगा ये सुख है फिर हमने नीम खाया नीम हमे  कड़वा लगा, असल में नीम का कड़वापन दुःख नहीं है बल्कि हम  हर चीज़ में आम जैसा स्वाद ढूंढ रहे हैं ये दुःख है। सुख दुःख तो पहिये की तरह है एक आएगा तो दूसरा भी उसके जायेगा लेकिन हमे सुख का चस्का लग गया है यही तो दुःख है। सोचिये कोई ऐसी चीज़ है जो हमे आनंद देती है, सुख देती है जब वो चीज़ हम दूर चली जाये तो दुःख होता है। असल में दुःख का कारण है हमारी “चाह”, जब हम कुछ चाहते हैं और वो ना होता तो हम दुखी होता  हैं। दुःख हमें कष्ट नहीं देता हमारी ये “चाह” हमको दुःख देती है। नहीं तो दुनिया में दुःख और सुख जैसी कुछ चीज़ है ही नहीं, ये तो सब समय है, अभी समय कुछ और है थोड़ी देर बाद कुछ और होगा। अगर हमें सच में पता चल जाये कि हर चीज़ है, नश्वर है तो हम दुखी होंगे ही नहीं। ना तो दुःख हमेशा रहने वाला है और ना सुख यही सत्य है।”By-Sandeep-Maheshwari

READ MORE  The First Police Department in India to Have UAV Fleet of Drones

 

3.Ratan Tata Motivational Speech

“जीवन में हमारे लिए केवल अच्छी शैक्षिक योग्यता या अच्छा career ही बहुत कुछ नहीं है । हमारा लक्ष्य होना चाहिए कि हम एक संतुलित, स्वस्थ्य और सफल जिंदगी जिए । संतुलित जीवन का मतलब है हमारा स्वास्थ्य लोगों से अच्छे सम्बन्ध और मन की शान्ति; सब कुछ अच्छा और संतुलित होना चाहिए ।

केवल पैसा और शौहरत कमाना ही बहुत कुछ नहीं है , सोचिये जब हमारा किसी से ब्रेकअप हो और उस दिन company में प्रमोशन कोई मायने नहीं रखता । जब हमारे पीठ में दर्द हो और हम कार ड्राइविंग करने के लिए जाये तो कोई आनंद नहीं आएगा जब हमारा दिमाग में टेंशन हो और हम शॉपिंग करने के लिए जाये कोई मजा नहीं आएगा ।

ये जीवन आपका है इसे ज्यादा गंभीर मत बनाइये, हम सब इस दुनियाँ के सफर में कुछ पलों के मेहमान हैं, जीवन का आंनद लीजिये उसे ज्यादा गंभीरता से लेने की जरुरत नहीं है । हम सभी इस दुनियां में केवल एक मोबाइल के रिचार्ज की तरह है जो अपनी validity के बाद समाप्त हो जायेगा, हमारी भी validity है। और हमारे भाग्य ने साथ दिया तो कम से कम 50 साल तो जिएंगे ही, इन 50 सालों में केवल 2500 weekends हैं।
क्या तब भी हमें हमेशा केवल काम ही काम करने की जरुरत है। जीवन को इतना भी कठिन मत बनाइये कि खुशियाँ आपसे बहुत दूर रहें।

सब कुछ ठीक है , कभी कभी काम से छुट्टी लेना , क्लास bunk करना, किसी एग्जाम में कम मार्क्स लाना या छोटे भाई बहनों से कभी कभी झगड़ना , सब ठीक है चलता है ये जिंदगी का पार्ट है । जब हम जिंदगी के आखिरी पड़ाव पे होंगे तो यही छोटी छोटी बातें हमें हँसाएंगी, गुदगुदाएगी और कंपनी के प्रमोशन, 24 घंटे लगातार काम ये सब उस दिन कोई मायने नहीं रखेंगे। हम लोग इंसान हैं कोई मशीन नहीं, जीवन का मजा लीजिये इसे हमेशा गंभीर नहीं बनाइये ।”By-Ratan Tata

READ MORE  The Country’s First Lady IAS Officer to Be Appointed to Chief Minister’s Office

4.Narendra Modi Best Motivational Speech in Hindi

“देश के हर व्यक्ति के अन्दर एक सपना होता है, उस सपने के साथ साथ उसके मन में कुछ ख्याल और Idea भी होता है।

कुछ लोगो के Idea हर दिन आता है और शाम होते-होते खत्म हो जाता है । लेकिन इसमे से कुछ लोग होते है जो Idea के साथ इतने involve हो जाते है कि . वो उससे बहार नहीं निकलते है. और पूरा परिवार परेशान हो जाता है कि ये कुछ और करता नहीं बस इसी चीज़ में लगा रहता है. किसी से बात भी नहीं करता है, और ना यार-दोस्तों से नहीं मिल रहा है क्या हो गया है लोग पागल समझने लगते है ।

लेकिन वही ब्यक्ति एक दिन कुछ कमाल करके दिखा देता है सबको , फिर तब पुरे परिवार को लगता है. नहीं नहीं साहब ये तो पहले से ही ऐसा था.
क्योंकि ज्यादातर ये 1st generation entrepreneur  है.

और जब कुछ करने का सोचा होगा, सब कहेगे नहीं-नहीं बेटे ये अपना काम नहीं है , कही नौकरी करले. शुरू में जब दोस्तों को बताया होगा. बहुत मजाक उड़ाया होगा सबने, जाते-आते आपको उसी उपनाम से सुनते होगे: ये कुछ करने वाला है, ये करने वाला है.

फिर एक पल आया होगा सारे लोग का विरोध हुआ होगा, सब दूर, परिवार के लोगो ने विरोध किया होगा कि नहीं ये नहीं करना है जाओ कमाओ, नौकरी कर लो. उस विरोध के बावजूद भी जो टिके होगे आज सब लोग कहते होगे कि यार इसने तो कमाल ही कर दी. कुछ ऐसा मुझे भी करना है.

हर किसी startup की जिंदगी की यही कहानी है. विशाल और कारोबार का निर्माण करने के लिए असफलताओ से बचा नहीं जा सकता.
जो पानी से भागता है वो कभी तैरना नहीं सिख सकता, एक बार तो डूबना ही पड़ता है तब जा करके तैरना सीखोगे. हर चीज की कही शुरुआत होती है, तो जो करता है उसी को दीखता है कि क्या होने वाला है औरो को वही दीखता है की यह पागल है.

READ MORE  Inspiring People Who Proved That You Can Achieve Anything With Determination

पैसे कमाने के इरादे से आता है वो कभी startup कर ही नहीं सकता, जो कुछ करने के इरादे से आता है पैसे उसके लिए पैसे बायप्रोडक्ट होते है. एक भीतर से एक उर्जा होती है , एक भीतर में सपने होते है उसके साथ खप जाने का इरादा होता है तब जा कर के परिस्थितिया पलटती है.

जो App बनाता है या जो startup की दुनिया में enter होता है या कोई नई चीजो का invents करता है, उसके मूल में उसके अदंर एक संवेदन आ पड़ती है. बहुत कम लोग इस बात को अनुभव कर पायेगे.

और जब वो कोई बुरे हाल देखता है, कुछ समस्या देखता है, वो उसे सोने नहीं देती, समस्या उसकी नहीं है, किसी और की है..!! लेकिन वो उसे सोने नहीं देती. उसका मन करता है मैं कोई रास्ता खोजू, में कुछ करू इसके लिए. किसी के लिए जो दर्द होता है जो हमें हमारे भीतर ऐसी अवस्ता पैदा करती है जिन लाखो-करोड़ो लोगो के दर्द को दूर करने का कारण बन जाते है और तब startup होता है.

हर startup के पीछे कोई न कोई समस्या का समाधान का इरादा रहना चाहिए, और जब किसी startup के पास समस्या के समाधान का इरादा होगा तो उसकी संतोष का लेवल भी कई कुछ और होगा.

startup कहने के बाद कुछ लोगो की सोच होती है की बड़ा हाई-फाई होगा, laptop के बहार दुनिया कुछ नहीं होगी, mobile से जुड़े होगे या हर किसी के पास Billion Doller का काम होगा और 2,000 लोग काम करेगे जरुरी नहीं है.

5 लोगो को भी मैं अगर रोजगार देता हूँ तो मेरा startup मेरे देश को आगे बढ़ावा देगा.

एक physiological change लाना है, कि youth के दिमाग में Job-Seekers की मानसिकता से बहार लाना है. फिर वो Job-Creator बनेगे. और एक बार उसके दिमाग में आ गया की मुझे 2 लोगो की जिंदगी को संभालना है, वो कर लेगा.

मैं वो कुछ करके दिखाऊ जिसमे में Job-Creator बनू, मैं वो कुछ करके दिखा जिसके कारण किसी की जिंदगी में मैं काम आऊ, मैं वो कुछ करके दिखाऊ कि मेरे देश को एक कदम आएग ले जाने में मेरा भी कोई योगदान हो. जितना भी अगर सपना हम लेकर चलते है, हम बहुत कुछ कर सकते है.|”

Comments

comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *